गुरुवार , सितम्बर 19 2019 | 12:27:00 AM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / जयपुर लिटरेचर फेस्ट में देश-दुनिया के मेहमानों के स्वागत के लिए फिर से सजा डिग्गी पैलेस

जयपुर लिटरेचर फेस्ट में देश-दुनिया के मेहमानों के स्वागत के लिए फिर से सजा डिग्गी पैलेस

जयपुर। कड़कड़ाती सर्दी के बीच पिंकसिटी का डिग्गी पैलेस एक बार फिर देश-दुनिया के मेहमानों का लिटरेचर फेस्टिवल में स्वागत के लिए तैयार है। इस फेस्टिवल में आने के लिए जाहिर है आपके मन में भी कई तरह के सवाल कुलबुुला रहे होंगे, कई जिज्ञासाएं होंगी बहुत कुछ जानना चाह रहे होंगे। तो आइये हम आपको इस लिटरेचर से जुड़़ी कुछ जानकारियां साझा कर रहे हैं जिनसे आप इस फेस्ट का पूरा मजा उठा सकेंगे।

1. हैरिटेज इव्निंग्स
जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में मुख्य वेन्यु पर चल रहे सत्रों के साथ ही कुछ प्रोग्राम जयपुर की सांस्कृतिक धरोहरों पर भी आयोजित किये जाते हैं। जिनमें हवा महल और आमेर फोर्ट प्रमुख रहते हैं। इन ऐतिहासिक स्थलों पर होने वाले ये शानदार कार्यक्रम आपके जीवन की कुछ खुशनुमा शामों में शामिल हो सकते हैं। राजस्थान पर्यटन के साथ मिलकर आयोजित होने वाली इन सांस्कृतिक शामों में कई प्रमुख कलाकार समा बांध चुके हैं, जिनमें नसीरुद्दीन शाह, शबाना आजमी, सोनम कालरा शामिल हैं। इस साल भी कुछ खास मेहमान आपकी शाम को गुलजार करने के लिए उपस्थित रहेंगे, और जवाहर कला केंद्र और आमेर फोर्ट में ये सांस्कृतिक शामें सजेंगी। 25 जनवरी को जवाहर कला केंद्र में ‘क्लोथिंग एज आइडेंटिटी’ नाम से एक फैशन शो आयोजित किया गया है, जहाँ कुछ पारम्परिक डिजाइनर, दिल को छू लेने वाले लोकगीत की पृष्ठभूमि में, कच्छ की सांस्कृतिक परम्परा को परिधानों के माध्यम से प्रस्तुत करेंगे। 26 जनवरी को आमेर फोर्ट में केरल का शास्त्रीय संगीत और, शाकिर खान और अजीम अल्वी के साथ उस्ताद खान और हाफीज अहमद अल्वी का सितार वादन होगा।

2.फेस्टिवल बाजार 
डिग्गी पैलेस में चल रहे अनेकों सत्रों के बीच श्रोताओं/दर्शकों का ध्यान अक्सर वहां सजी छोटी-छोटी दुकानों पर जाता ही जाता है। फेस्टिवल बाजार में आमंत्रित ये विक्रेता जहां कुछ चुनिंदा साजो-सामान के साथ अपने उपभोक्ताओं के सामने हाजिर होते हैं, वहीँ ज्यादातर दुकानें चैरिटी के मकसद से भी संचालित हैं। इन दुकानों में बिकने के लिए आया सामान अधिकतर स्कूली बच्चों या कुछ एनजीओ की मदद से जरूरतमंद कारीगरों द्वारा तैयार किया गया होता है। जिनकी बिक्री का एक निश्चित अनुपात उन तक पहुँचता है।

3. सुबह और शाम का म्यूजिक
Z जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल अपनी लिस्ट में संगीत को प्राथमिकता देते हुए सुबह और शाम, दोनों ही समय बिलकुल अलग अंदाज में दुनिया के बेस्ट से बेस्ट कलाकारों को मंच पर ला श्रोताओं को सम्मोहित कर देता है। सुबह 9ः30 बजे, डिग्गी पैलेस में ही इतनी सुरीली और ओजस्वी प्रस्तुति दी जाती है कि न चाहते हुए भी आपका सिर उन धुनों पर झूमने लगता है। वही शाम का जबरदस्त म्यूजिक आपके पैरों को थिरकने के लिए मजबूर कर देता है। एक जबरदस्त बीते दिन की एक शानदार विदाई जयपुर म्यूजिक स्टेज पर ही दी जाती है। तो कहा जा सकता है कि जी जेएलएफ में अगर म्यूजिक नहीं सुना तो क्या किया… और इस बार के कलाकारों में बर्नाली चट्टोपाध्याय, दीपा रसिया, श्रुति विश्वनाथ, उषा उत्थुप और विद्या शाह शामिल हैं।

4.फेवरेट लेखक से साइन की हुई कॉपी
हम सबके अपने कुछ रोल मॉडल और फेवरेट सेलिब्रिटी और लेखक होते हैं। तो जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में न सिर्फ आप उन्हें देख/सुन सकते हैं, बल्कि उनकी किताब खरीदकर, उस पर उनके ऑटोग्राफ भी ले सकते हैं। और क्या पता आपको लगे हाथों उनसे अपने दिल का कोई सवाल पूछने का मौका भी मिल जाए। तो दोस्तों अपने फैन गर्ल/बॉय मूमेंट को जीते हुए इसे भी आजमा लिया जाये।

5. मजेदार कुल्हड़ चाय और पालक पत्ते की चाट
उफ्फ जहाँ इतनी मस्ती हो ही रही है तो ‘वर्ल्ड फेमस’ कुल्हड़-चाय और पालक के पत्ते की चाट क्यों छोड़ी जाए। डिग्गी की खास रेसिपी से तैयार यह चाय और चाट सच में आपको कहीं नहीं मिलेगी। और भले ही फ्रंट लॉन में कितना ही बड़ा सेलिब्रिटी क्यों न मंच से बोल रहा हो, लेकिन फिर भी फ्रंट लॉन के पीछे चलने वाली चाय की चुस्कियां और चाट की लजीजी एक पल के लिए भी नहीं रूकती। वो क्या कहते हैं, इसका स्वाद सीधे आत्मा तक जो पहुंचता है।

6.सेलिब्रिटी के साथ दिलचस्प बातचीत का मौका
जैसा की हमने आपको बताया कि आप लेखक की साइन की हुई किताब खरीद सकते हैं, लेकिन यहाँ ऐसे और भी बहुत से सेलिब्रिटी आते हैं, जो यूं ही आपको इधर-उधर कोई सत्र सुनते हुए या एक वेन्यु से दूसरे के बीच जाते हुए टकरा जाते हैं। और अगर बाय चांस आपने डेलिगेट पास खरीदा हुआ है, तो लंच एरिया या फिर फिर डेलिगेट लाउन्ज में, कौन जाने आपका जैक पॉट लग जाए और आपको कुछ पल की गुफ्तगू मिल जाए… लेकिन ऐसे मामलों में हमें पूरी तरह से दूसरे की प्राइवेसी का ध्यान रखते हुए, सभ्य तरीके से पेश आना चाहिए।

7. हो सकता है अगले दिन के फ्रंट पेज पर आप ही हों!
वैसे तो जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल सितारों की तड़क-भड़क से सजा रहता है, फिर भी यकीन मानिए यहाँ आये बहुत से आम लोग भी अक्सर अखबारों के फ्रंट पेज पर छा जाते हैं। दरअसल यहां एक ही समय पर सैंकड़ों प्रोफेशनल फोटोग्राफर घूम रहे होते हैं, जिनको न जा जाने कब आपका हेयर स्टाइल या फिर आपके कपड़ों का रंग भा जाता है, और वो आपकी कैनडिड तस्वीर क्लिक कर लेते हैं। तो दोस्तों जब दुनिया संभावनाओं से भरी है तो जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल कैसे पीछे रह सकता है।

8. सुपर्ब सेल्फी पॉइंट 
सोशल मीडिया के इस दौर में कोई भी सेल्फी के शौक से अछूता तो नहीं ही है। तो क्यों न इसे स्वीकारते हुए कह दें कि जी हाँ हम भी कई बार अच्छी सेल्फी की तलाश में मीलों का सफर तय कर जाते हैं। तो भई मीलों नहीं, बस जब आप जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में आ ही गए हैं तो सेल्फी लेने से क्यों चूकना। और कई बेहतरीन सेल्फी की गारंटी हम आपको देते हैं।

9. वो अजनबी
कभी किसी महान कवि ने कहा था, “किसी दिन उनसे मुलाकात होगी”, तो जी किसी दिन क्यों, बल्कि जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल पक्के रूप से आपको ऐसे बहुत से लोग मिलेंगे, जिनसे बात करना, या उनके साथ कुछ समय गुजारना आपके जीवन का कोई यादगार पल बन सकता है। यकीनन यहाँ कुछ ऐसे दोस्त मिल सकते हैं, जिन्हें वही किताब पसंद हो, जो आपको पसंद है। या हो सकता है कि आप किसी एक ही लेखक या हस्ती के फैन हो, या कोई खास किरदार, जिससे आप दोनों ही सहमत न हों।

10. खिले-खिले रंगों से रौशन माहौल
और अंत में, लेकिन चूंकि हर अंत एक शुरुआत है, तो यहाँ के खिले-खिले माहौल में आपको एहसास होता है कि तनाव की कोई गाँठ खुल रही है। हो सकता है आप किसी खास दीवार पर बनी चित्रकला को देख रहे हों, तो पता चले कि वो किसी नामी कलाकार की कृति है। हर साल यहाँ ओजस आर्ट अवार्ड के तहत आये कलाकारों का काम भी प्रदर्शित किया जाता है। इस साल के कलाकारों में राजेश चैत्यवांगड़, तुषार वायेद और मयूर वायेद शामिल हैं। हो सकता है कोई खास कला आपको प्रेरित कर दे। तो जहाँ आप मन में कुछ अच्छे सत्र सुनने का संकल्प लेकर आ रहे हैं, तो वहीँ कुछ देर के लिए इस माहौल का भी अनुभव अपने मन में संजोइए।
एएनएस समाचार/गोविन्द गुप्ता/ नागर

आपको यह रिपोर्ट कैसी लगी, हमें बताएं। सरकारी और कॉरपरेट दवाब से मुक्त रहने के लिए
हमें सहयोग करें : -


* 1 खबर के लिए Rs 10.00 / 1 माह के लिए Rs 100.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 1100.00

Contact us

Check Also

वीवी प्रो कबड्डी में दिल्ली ने बेंगलुरू को हराया

दिल्ली, 24 अगस्त (एएनएस)।   त्यागराज स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में शनिवार को वीवी प्रो कबड्डी सीजन-7 को खेले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *