रविवार , मार्च 24 2019 | 02:33:52 AM
Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / यूपी में सपा-बसपा गठबंधन तय, वाराणसी पर संयुक्त प्रत्याशी उतारेगा गठबंधन

यूपी में सपा-बसपा गठबंधन तय, वाराणसी पर संयुक्त प्रत्याशी उतारेगा गठबंधन

लखनऊ। लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए उत्तरप्रदेश में सपा और बसपा में गठबंधन अब लगभग तय हो गया है। माना जा रहा है कि कल यानि 12 जनवरी को बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव इसकी औपचारिक घोषणा करेंगे। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी की संसदीय क्षेत्र वाराणसी पर गठबंधन संयुक्त प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारेगा। सूत्रों के हवाले से खबर है कि सपा और बसपा 37-37 सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करेंगे। वहीं 2 सीटों पर राष्ट्रीय लोकदल का प्रत्याशी चुनाव लड़ेगा। गठबंधन के तहत राहुल गांधी के लिए अमेठी और सोनिया गांधी के लिए रायबरेली सीट छोड़ी जाएंगी। इसी कड़ी में अपना दल (एस) की अनुप्रिया पटेल की सीट पर भी गठबंधन प्रत्याशी नहीं उतारेगा।

सूत्रों ने बताया कि अन्य साथियों के महागठबंधन में नहीं जुड़ने की स्थिति में 1-1 सीटें सपा और बसपा आपस में बांट लेंगी। कांग्रेस पार्टी को फिलहाल दो से ज्यादा सीटें देने से दोनों नेताओं ने इनकार कर दिया है। माना जा रहा है कि सपा-बसपा के साथ रालोद का जुड़ना तय है। हालांकि कांग्रेस पर संशय बना हुआ है। जानकारी के अनुसार, कांग्रेस सीटें बढ़ाने की मांग कर रही है लेकिन दोनों दल इस पर राजी नहीं है। मायावती कांग्रेस को ज्‍यादा भाव नहीं दे रही हैं। मायावती कल शाम लखनऊ पहुंच गई हैं। वह पूरी तरह से चुनावी मूड में दिखाई दे रही हैं। आने के तुरंत बाद भाईचारा कमेटी की बैठक ली। उन्होंने कहा कि लोकसभा पर चुनाव की तैयारियों में अभी से जुट जाएं। इसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से भी मुलाकात की। बताया जा रहा है कि वह इस बार सिर्फ चार दिनों तक लखनऊ में रहेंगी और 15 को जन्मदिन मनाने के बाद अपराह्न दिल्ली चली जाएंगी।
एएनएस समाचार/गोविन्द गुप्ता

आपको यह रिपोर्ट कैसी लगी, हमें बताएं। सरकारी और कॉरपरेट दवाब से मुक्त रहने के लिए
हमें सहयोग करें : -


* 1 खबर के लिए Rs 10.00 / 1 माह के लिए Rs 100.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 1100.00

Contact us

Check Also

आज़ाद हिन्द सरकार की 75वीं वर्षगांठ: भैयाजी जोशी

ग्वालियर। 21 अक्टूबर 1943 को नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा निर्वासन में आज़ाद हिन्द सरकार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *